नमस्कार मित्रो इस आर्टिकल में हम आपको IAS Full Form in Hindi एवं IAS क्या है व कैसे बने इसके बारे में बताने वाले है हमारे देश में अधिकतर विद्यार्थी पढ़ लिख कर एक उच्च सरकारी नौकरी प्राप्त करने की इच्छा रखते है जैसे IAS अगर आपका भी सपना है IAS बनने का लेकिन IAS की full फॉर्म क्या है? कैसे बनें? कुछ खास जानकारी नहीं है.

 IAS Full Form in Hindi

IAS के बारे में बहुत से लोगो को जानकारी नहीं होती तो यह आर्टिकल इसीलिए लिखा गया है ताकि हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से IAS Full Form क्या होता है व IAS कैसे बने इससे जुडी जानकारी बताने वाले है ताकि आपको आईएएस के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में प्राप्त हो सके.

IAS Full Form in Hindi

IAS किसे कहते है व आईएएस बनने के लिए क्या करें इन सब के बारे में बताने से पहले हम आपको इसके पुरे नाम के बारे में बता रहे है.

IAS Full Form – Indian Administrative Services

हिंदी में आईएएस को भारतीय प्रशासनिक सेवा भी कहा जाता है व यह भारत की एक अधिकारी लेवल की पोस्ट होती है जो काफी ऊंची पोस्ट मानी जाती है व यह  सिविल सेवा से जुडी होती है और इसी के अंतर्गत चयनित अभ्यर्थियों को डीएम, तहसीलदार, कलेक्टर तथा अन्य महत्वपूर्ण पद दिए जाते हैं.

आईएएस की परीक्षा कौन करवाता है ?

आईएएस की परीक्षा करवाने का जिम्मा संघ लोक सेवा आयोग के ऊपर है| संघ लोक सेवा आयोग को अंग्रेजी में यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन कहा जाता है, जिसे शार्ट में UPSC भी कहा जाता है.

यह संस्था आईएएस के अलावा भी अन्य सभी प्रकार की परीक्षाएं करवाती है|यूपीएससी के द्वारा साल में एक बार IAS की परीक्षा का आयोजन करवाया जाता है, जो सामान्य तौर पर जुलाई के महीने में होता है.

UPSC क्या है?

जब हमारा देश आजाद नहीं हुआ था तब आईएएस की परीक्षा का आयोजन इंग्लैंड में होता था परंतु हमारे भारत देश के राष्ट्रवादियों ने आंदलन करके इस परीक्षा को भारत में करवाने की मांग की, जिसके बाद साल 1926 में अक्टूबर के महीने में हमारे भारत देश में पहले लोक सेवा आयोग की स्थापना हुई और जब हमारा देश आजाद हो गया, तब इसका नाम बदल कर संघ लोक सेवा आयोग कर दिया गया.

संघ लोक सेवा आयोग की स्थापना भारतीय संविधान के अनुच्छेद 315 के तहत की गई है यूपीएससी द्वारा आयोजित करवाई जाने वाली अन्य परीक्षाएं.

  • भारतीय प्रशासनिक सेवा
  • भारतीय पुलिस सेवा
  • भारतीय राजस्व सेवा
  • भारतीय अभियांत्रिकी सेवा
  • भारतीय आर्थिक और सांख्यिकी सेवा
  • भूगर्भ सेवा
  • विशिष्ट श्रेणी रेलवे प्रशिक्षु सेवा
  • संयुक्त चिकित्सा सेवा
  • केंद्रीय पुलिस सेवा
  • संयुक्त रक्षा सेवा
  • राष्टीय रक्षा सेवा

निम्न प्रकार की परीक्षा के लिए यूपीएसी के द्वारा आवेदन पत्र भरे जाते है व इसकी परीक्षा भी यूपीएससी द्वारा ही आयोजित की जाती है इन परीक्षा में सफल होने के बाद उम्मीदवार अलग अलग पोस्ट पर अधिकारी लेवल की नौकरी प्राप्त कर सकते है.

आईएएस बनने के लिए उम्र सीमा

आईएएस बनने के लिए अलग-अलग श्रेणी के लोगों के लिए अलग-अलग उम्र सीमा निर्धारित की गई है| सामान्य वर्ग के अभ्यर्थी कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 32 साल तक आईएएस बन सकते हैं, वही एससी एसटी और ओबीसी समुदाय के लोगों को संविधान में दिए गए आरक्षण के तहत उम्र सीमा में छूट दी जाती है.

आईएएस की परीक्षा की प्रक्रिया

यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा आईएएस की परीक्षा 3 स्टेप्स में पूरी करवाई जाती है, जो इस प्रकार है.

  • प्रारंभिक परीक्षा
  • मुख्य परीक्षा
  • इंटरव्यू

इन तीन प्रक्रिया को पूरी करने के बाद आप एक आईएएस बन सकते है व इसकी परीक्षा को उत्तीर्ण करने के लिए आपको बहुत ही अच्छी व कड़ी मेहनत करनी होती है.

IAS बनने के लिए Education Qualification

जो अभ्यर्थी आईएएस की परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं या फिर आईएएस बनना चाहते हैं, उन्हें हमारे देश के किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय में ग्रेजुएशन पूरा करना जरूरी होता है, ग्रेजुएशन पास उम्मीदवार ही आईएएस की परीक्षा में शामिल हो सकते हैं.

आईएएस की प्रारंभिक परीक्षा का पैटर्न

  1. सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र I (वस्तुनिष्ठ) – 200 अंक
  2. सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र II (वस्तुनिष्ठ) – 200 अंक

आईएएस की मुख्य परीक्षा का पैटर्न

  1. सामान्य अध्ययन (प्रश्नपत्र –I) – 250 अंक
  2. सामान्य अध्ययन (प्रश्नपत्र –II) – 250 अंक
  3. सामान्य अध्ययन (प्रश्नपत्र –III) – 250 अंक
  4. सामान्य अध्ययन (प्रश्नपत्र –IV) – 250 अंक
  5. वैकल्पिक विषय (प्रश्नपत्र –I) – 250 अंक
  6. वैकल्पिक विषय (प्रश्नपत्र –II) – 250 अंक
  7. निबंध लेखन – 250 अंक
  8. अंग्रेज़ी (अनिवार्य) – 300 अंक
  9. भारतीय भाषा (अनिवार्य) – 300 अंक

नोट:- अंग्रेजी विषय, भारतीय भाषा विषय में प्राप्त अंकों को सिलेक्शन प्रक्रिया में शामिल नहीं किया जाता है पर इनमे आपको उत्तीर्ण होना अनिवार्य है.

आईएएस का इंटरव्यू

जो अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा को पास कर लेता है उसे सबसे आखरी में आईएएस के इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह इंटरव्यू टोटल 275 अंकों का होता है और इस इंटरव्यू को भी सफलतापूर्वक पास करने के बाद अभ्यर्थी को उसकी मेरिट के हिसाब से पद प्रदान किए जाते हैं और फिर उसे ट्रेनिंग पर भेज दिया जाता है.

सामान्य तौर पर यह ट्रेनिंग उत्तराखंड राज्य की राजधानी देहरादून या फिर मसूरी में होती है उम्मीदवारों को ट्रेनिंग की भी नियमानुसार सैलरी मिलती है.

आईएएस में सिलेक्शन प्रोसेस

जो अभ्यर्थी परीक्षा की तीनों प्रक्रिया में सफल होता है, उसे भारतीय प्रशासनिक सेवा के अंतर्गत आने वाले विभिन्न प्रकार के पदों के लिए चयनित किया जाता है और जिस अभ्यर्थी की रैंक सबसे ज्यादा अच्छी होती है उन्हें आईएएस के पद पर सिलेक्ट किया जाता है.

वहीं जिन अभ्यर्थियों की रैंक कम होती है, उन्हें अन्य पद प्रदान किए जाते हैं और कुछ साल तक काम करने के बाद उन्हें भी आईएएस का पद दिया जाता है| आईएएस में सिलेक्शन का बेस मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू में मिलने वाले अंकों के आधार पर होता है.

आईएएस ऑफिसर की सैलरी

जब एक आईएएस अभ्यर्थी ट्रेनिंग पर होता है, तो उसे लगभग ₹58,800 सैलरी मिलती है। और पद प्राप्त करने के बाद आईएएस ऑफिसर के महीने की सैलरी के तौर पर उसकी शुरुआती सैलरी ₹56,100 के आसपास होती है और हाई पोस्ट पर पहुंचने पर उसकी सैलरी ढाई लाख रुपए महीने तक होती है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको IAS Full Form in Hindi एवं IAS क्या है व कैसे बने इसके बारे में जानकारी देने का प्रयत्न किया है हमे उम्मीद है की आपको आईएएस के बारे में दी गयी जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें व इससे जुड़ा किसी भी प्रकार का सवाल आदि पूछना चाहते है तो आप हमे कमेंट आदि के  माध्यम से बता सकते है.

पिछला लेखClash of Clans Mod APK Free Download
अगला लेखTOP Impressive Facebook Stylish Name For Boys & Girls

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें